समाचार
वर्ष : माह :
  • राष्ट्रीय सहारा : 15/10/2019 सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ : - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश के कुल 101 शहरों को प्रमुख वायु प्रदूषणकारी शहरों के रूप में चिन्हित किया है। इनमें से आगरा, प्रयागराज, अनपरा, बरेली, फिरोजाबाद, गजरौला, गाजियाबाद, झांसी, कानपुर, खुर्जा, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, रायबरेली व वाराणसी आदि 15 शहर उत्तर प्रदेश में हैं। इन 15 शहरों के लिए वायु प्रदूषण नियन्त्रण कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है, जिसे केन्द्र द्वारा स्वीकृत भी कर दिया गया है। इसके तहत प्रदूषण नियन्त्रण के लिए नौ क्षेत्रीय पर्यावरण अनुश्रवण कंट्रोल रूम स्थापित किये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने सोमवार को यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम विषय पर आयोजित कार्यशाला के उद्घाटन अवसर पर कहा कि पर्यावरण संरक्षण भारत की परंपरा रही है। लिहाजा हम ही इसका नेतृत्व भी कर सकते हैं। योगी ने इस अवसर पर किसानों से अपील की है कि वह फसल काटने के बाद उसके अपशिष्ट (पराली) को खेत में न जलाएं। पराली जलाने से भूसे के रूप में आप न केवल बेजुबान जानवरों का हक मारते हैं, बल्कि पराली के साथ ही मिट्टी में मौजूद करोड़ों की संख्या में मित्र बैक्टीरिया और फंफूद जल जाते हैं। इस तरह से इससे पर्यावरण और खेत की उर्वरा शक्ति को स्थाई क्षति पहुंचती है। सम्बंधित विभाग मिलकर किसानों को इस बाबत जागरूक करें। किसानों में उस तकनीक को लोकप्रिय करें, जिससे पराली जलाने की जगह आसानी से उसको जैविक खाद में बदला जा सके। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। कार्यक्रम में प्रदेश के पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री दारा सिंह चौहान ने कहा कि प्रदूषित पर्यावरण आज एक विकट समस्या है। नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम के तहत चिन्हित प्रदेश के 15 प्रदूषित शहरों की वायु गुणवत्ता के लिए एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग कमेटी गठित की गई है। इस अवसर पर पर्यावरण राज्य मंत्री अनिल शर्मा ने कार्यक्रम में आये सभी लोगों को धन्यवाद किया। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड के चेयरमैन जेपीएस राठौर ने कहा कि क्लाइमेट चेंज आज की एक विश्वव्यापी समस्या है।
    Close
    नौ क्षेत्रीय पर्यावरण अनुश्रवण कंट्रोल रूम खुलेंगे : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 15/10/2019
    सहारा न्यूज ब्यूरोलखनऊ : - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने देश के कुल 101 शहरों को प्रमुख वायु प्रदूषणकारी शहरों के रूप में चिन्हित किया है। इनमें से आगरा, प्रयागराज, अनपरा, बरेली, फिरोजाबाद, गजरौला, गाजियाबाद, झांसी, कानपुर, खुर्जा, लखनऊ, मुरादाबाद, नोएडा, रायबरेली व वाराणसी आदि 15 शहर उत्तर प्रदेश में हैं। इन 15 शहरों के लिए वायु प्रदूषण नियन्त्रण कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है, जिसे केन्द्र द्वारा स्वीकृत भी कर दिया गया है। इसके तहत प्रदूषण नियन्त्रण के लिए नौ क्षेत्रीय पर्यावरण अनुश्रवण कंट्रोल रूम स्थापित किये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने सोमवार को यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम विषय पर आयोजित कार्यशाला के उद्घाटन अवसर पर कहा कि पर्यावरण संरक्षण भारत की परंपरा रही है। लिहाजा हम ही इसका नेतृत्व भी कर सकते हैं। योगी ने इस अवसर पर किसानों से अपील की है कि वह फसल काटने के बाद उसके अपशिष्ट (पराली) को खेत में न जलाएं। पराली जलाने से भूसे के रूप में आप न केवल बेजुबान जानवरों का हक मारते हैं, बल्कि पराली के साथ ही मिट्टी में मौजूद करोड़ों की संख्या में मित्र बैक्टीरिया और फंफूद जल जाते हैं। इस तरह से इससे पर्यावरण और खेत की उर्वरा शक्ति को स्थाई क्षति पहुंचती है। सम्बंधित विभाग मिलकर किसानों को इस बाबत जागरूक करें। किसानों में उस तकनीक को लोकप्रिय करें, जिससे पराली जलाने की जगह आसानी से उसको जैविक खाद में बदला जा सके। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। कार्यक्रम में प्रदेश के पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री दारा सिंह चौहान ने कहा कि प्रदूषित पर्यावरण आज एक विकट समस्या है। नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम के तहत चिन्हित प्रदेश के 15 प्रदूषित शहरों की वायु गुणवत्ता के लिए एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग कमेटी गठित की गई है। इस अवसर पर पर्यावरण राज्य मंत्री अनिल शर्मा ने कार्यक्रम में आये सभी लोगों को धन्यवाद किया। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड के चेयरमैन जेपीएस राठौर ने कहा कि क्लाइमेट चेंज आज की एक विश्वव्यापी समस्या है।


  • हिन्दुस्तान : 14/10/2019 भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अब कांग्रेस और एनसीपी की जमानत जरूर जब्त होगी। ऐसी मान्यता है कि राहुल गांधी जहां जाते हैं, वहां कांग्रेस की जमानत जब्त हो जाती है। महाराष्ट्र में राहुल गांधी के कदम पड़ने का मतलब है कि भारतीय जनता पार्टी और गठबंधन की जीत सुनिश्चित है। मुख्यमंत्री ने रविवार को महाराष्ट्र में तीन जनसभाएं की और कांग्रेस व एनसीपी को निशाने पर रखा। उन्होंने यवतमाल, हिंगोली और लातूर में भाजपा, शिवसेना और आरपीआई गठबंधन के प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी के कार्यकाल में बेईमानी और भ्रष्टाचार सिर चढ़कर बोल रहा था। जब से महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस के नेतृत्व में भाजपा गठबंधन की सरकार बनी है, तब से यहां के हर जनपद में विकास की तमाम योजनाएं तेजी से आगे बढ़ी। योगी ने कहा कि आज महाराष्ट्र में सुरक्षा का माहौल ऐसा है कि डी कंपनी के गुर्गे मारे-मारे फिर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाला साहब ठाकरे ने शिवसेना के मंचों से राष्ट्रवाद की अलख को जगाने का कार्य किया था। योगी ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने शासन की योजनाओं को व्यक्ति, जाति, मत और मजहब तक सीमित रखा। तुष्टीकरण की नीति अपनाकर समाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न करते हुए देश को कमजोर किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सबका साथ और सबका विकास में यकीन रखती है। योगी ने कहा कि कांग्रेस बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर को भारत रत्न तक नहीं देना चाहती थी। अटल बिहारी बाजपेयी की संस्तुति पर कांग्रेस सरकार को मजबूर होकर उन्हें भारत रत्न देना पड़ा था। बाबा साहब अम्बेडकर द्वारा बनाए गए संविधान का सबसे ज्यादा सम्मान कोई करता है, तो वह भारतीय जनता पार्टी है। उन्होंने कहा कि पंच तीर्थ स्थापित करके प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय जनता पार्टी ने बाबा साहब को सम्मान देने का कार्य किया है।
    Close
    कांग्रेस,राकांपा की जब्त होगी जमानत : योगी
    हिन्दुस्तान 14/10/2019
    भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अब कांग्रेस और एनसीपी की जमानत जरूर जब्त होगी। ऐसी मान्यता है कि राहुल गांधी जहां जाते हैं, वहां कांग्रेस की जमानत जब्त हो जाती है। महाराष्ट्र में राहुल गांधी के कदम पड़ने का मतलब है कि भारतीय जनता पार्टी और गठबंधन की जीत सुनिश्चित है। मुख्यमंत्री ने रविवार को महाराष्ट्र में तीन जनसभाएं की और कांग्रेस व एनसीपी को निशाने पर रखा। उन्होंने यवतमाल, हिंगोली और लातूर में भाजपा, शिवसेना और आरपीआई गठबंधन के प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी के कार्यकाल में बेईमानी और भ्रष्टाचार सिर चढ़कर बोल रहा था। जब से महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस के नेतृत्व में भाजपा गठबंधन की सरकार बनी है, तब से यहां के हर जनपद में विकास की तमाम योजनाएं तेजी से आगे बढ़ी। योगी ने कहा कि आज महाराष्ट्र में सुरक्षा का माहौल ऐसा है कि डी कंपनी के गुर्गे मारे-मारे फिर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाला साहब ठाकरे ने शिवसेना के मंचों से राष्ट्रवाद की अलख को जगाने का कार्य किया था। योगी ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने शासन की योजनाओं को व्यक्ति, जाति, मत और मजहब तक सीमित रखा। तुष्टीकरण की नीति अपनाकर समाजिक ताने-बाने को छिन्न-भिन्न करते हुए देश को कमजोर किया। उन्होंने कहा कि भाजपा सबका साथ और सबका विकास में यकीन रखती है। योगी ने कहा कि कांग्रेस बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर को भारत रत्न तक नहीं देना चाहती थी। अटल बिहारी बाजपेयी की संस्तुति पर कांग्रेस सरकार को मजबूर होकर उन्हें भारत रत्न देना पड़ा था। बाबा साहब अम्बेडकर द्वारा बनाए गए संविधान का सबसे ज्यादा सम्मान कोई करता है, तो वह भारतीय जनता पार्टी है। उन्होंने कहा कि पंच तीर्थ स्थापित करके प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय जनता पार्टी ने बाबा साहब को सम्मान देने का कार्य किया है।


  • दैनिक जागरण : 13/10/2019 जागरण संवाददाता, हिसार : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह कहकर चौंका दिया कि सिरसा एयरफोर्स स्टेशन से सुखोई विमानों ने उड़ान भरकर पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी। पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए हरियाणा की धरती काम आई। योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लगातार दूसरे दिन हरियाणा में चुनावी सभाएं की। पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजनलाल के गढ़ आदमपुर में भाजपा प्रत्याशी सोनाली फौगाट के लिए जनसभा में उन्होंने हरियाणा की शान, जय जवान जय किसान का नारा दिया। योगी बोले, वह लखनऊ से विमान में बैठकर सीधा सिरसा एयरफोर्स स्टेशन पर उतरे। यहां उतरकर उन्होंने देखा कि किस प्रकार सिरसा एयरफोर्स स्टेशन से सुखोई विमानों ने उड़ान भरकर पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी। अनुच्छेद 370 खत्म करने को साहसिक फैसला बताते हुए योगी ने कहा कि पूर्व की सरकारें इसको समाप्त करने की हिम्मत नहीं दिखा पाईं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआत में ही इसको खत्म करके बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और सरदार पटेल के सपने को पूरा किया। अनुच्छेद 370 खत्म हुआ तो पाकिस्तान को दर्द हुआ और देश में कांग्रेस को। उन्होंने सवाल किया कि ऐसी पार्टी को क्या आदमपुर के लोग वोट देंगे। फिर बोले, लोगों की प्राथमिकता भाजपा होनी चाहिए, क्योंकि भाजपा देशभक्तों की पार्टी है। कांग्रेस के राज में जहां आतंकवाद पनपता था, अब वहां खुशहाली है। मोदी ने आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोक दी है।
    Close
    सिरसा से उड़कर सुखोई ने की थी एयर स्ट्राइक : योगी
    दैनिक जागरण 13/10/2019
    जागरण संवाददाता, हिसार : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह कहकर चौंका दिया कि सिरसा एयरफोर्स स्टेशन से सुखोई विमानों ने उड़ान भरकर पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी। पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए हरियाणा की धरती काम आई। योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को लगातार दूसरे दिन हरियाणा में चुनावी सभाएं की। पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भजनलाल के गढ़ आदमपुर में भाजपा प्रत्याशी सोनाली फौगाट के लिए जनसभा में उन्होंने हरियाणा की शान, जय जवान जय किसान का नारा दिया। योगी बोले, वह लखनऊ से विमान में बैठकर सीधा सिरसा एयरफोर्स स्टेशन पर उतरे। यहां उतरकर उन्होंने देखा कि किस प्रकार सिरसा एयरफोर्स स्टेशन से सुखोई विमानों ने उड़ान भरकर पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की थी। अनुच्छेद 370 खत्म करने को साहसिक फैसला बताते हुए योगी ने कहा कि पूर्व की सरकारें इसको समाप्त करने की हिम्मत नहीं दिखा पाईं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआत में ही इसको खत्म करके बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और सरदार पटेल के सपने को पूरा किया। अनुच्छेद 370 खत्म हुआ तो पाकिस्तान को दर्द हुआ और देश में कांग्रेस को। उन्होंने सवाल किया कि ऐसी पार्टी को क्या आदमपुर के लोग वोट देंगे। फिर बोले, लोगों की प्राथमिकता भाजपा होनी चाहिए, क्योंकि भाजपा देशभक्तों की पार्टी है। कांग्रेस के राज में जहां आतंकवाद पनपता था, अब वहां खुशहाली है। मोदी ने आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोक दी है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 12/10/2019 लखनऊ/ हरियाणा (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को हरियाणा के पंचकुला, अंबाला, जींद और सोनीपत में विधान सभा की चुनावी जनसभाओं में कांग्रेस पर एक बार फिर जोरदार हमला बोला। श्री योगी ने कांग्रेस को बिना ‘‘पायलट’ की दिशाहीन गाड़ी बताया और कहा कि इसके डीएनए में ही भ्रष्टाचार है। भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार करने हरियाणा पहुंचे यूपी के सीएम श्री योगी ने कई जनसभाओं में कहा कि कांग्रेस नेताओं को भारत माता की जय बोलने में शर्म आती है। बुलंदशहर (एसएनबी)। सड़क किनारे सो रहे चार महिलाओं समेत सात लोगों को बस ने कुचल दिया जिससे सभी की मौके पर ही मौत हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिवार को दो लाख तथा डीएम ने 10 हजार रपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। जिला हाथरस के ग्राम चंदवा निवासी महेन्द्र सिंह अपने परिवार व रिश्तेदारों को साथ लेकर बस से मां वैष्णो देवी के दर्शन को गया था। माता के दर्शन कर वापस लौटते समय बस में करीब 50 तीर्थ यात्री सवार थे। जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार की देर रात करीब दो बजे यात्री थाना नरौरा क्षेत्र में गंगा स्नान को बैराज पर रुके थे। गंगा स्नान के बाद वे बैलोन माता देवी आदि के दर्शन को जाने वाले थे। बस रुकते ही कुछ यात्री गंगा स्नान को तथा कुछ घूमने के लिये निकल गए। चार महिलाएं महेन्द्र सिंह की पत्नी फूलवती 65), माला देवी (32) इसकी पुत्री कुमारी कल्पना (3), फिरोजाबाद के थाना दक्षिण के परमेश्वर गेट निवासी शीला देवी (35) उसकी पुत्री योगिता (5), जिला अलीगढ़ के कस्बा हरदुआगंज निवासी रेनू (22) व इसकी पुत्री संजना (4) सड़क किनारे फुटपाथ पर ही सो गये। इसी दौरान करीब चार बजे संभल से आ रही बस यूपी 81 सीटी-0799 के चालक ने तीर्थ यात्रियों पर बस चढ़ा दी। सभी की मौके पर ही मौत हो गई।
    Close
    कांग्रेस के डीएनए में ही भ्रष्टाचार : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 12/10/2019
    लखनऊ/ हरियाणा (एसएनबी)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को हरियाणा के पंचकुला, अंबाला, जींद और सोनीपत में विधान सभा की चुनावी जनसभाओं में कांग्रेस पर एक बार फिर जोरदार हमला बोला। श्री योगी ने कांग्रेस को बिना ‘‘पायलट’ की दिशाहीन गाड़ी बताया और कहा कि इसके डीएनए में ही भ्रष्टाचार है। भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार करने हरियाणा पहुंचे यूपी के सीएम श्री योगी ने कई जनसभाओं में कहा कि कांग्रेस नेताओं को भारत माता की जय बोलने में शर्म आती है। बुलंदशहर (एसएनबी)। सड़क किनारे सो रहे चार महिलाओं समेत सात लोगों को बस ने कुचल दिया जिससे सभी की मौके पर ही मौत हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिवार को दो लाख तथा डीएम ने 10 हजार रपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। जिला हाथरस के ग्राम चंदवा निवासी महेन्द्र सिंह अपने परिवार व रिश्तेदारों को साथ लेकर बस से मां वैष्णो देवी के दर्शन को गया था। माता के दर्शन कर वापस लौटते समय बस में करीब 50 तीर्थ यात्री सवार थे। जानकारी के अनुसार बृहस्पतिवार की देर रात करीब दो बजे यात्री थाना नरौरा क्षेत्र में गंगा स्नान को बैराज पर रुके थे। गंगा स्नान के बाद वे बैलोन माता देवी आदि के दर्शन को जाने वाले थे। बस रुकते ही कुछ यात्री गंगा स्नान को तथा कुछ घूमने के लिये निकल गए। चार महिलाएं महेन्द्र सिंह की पत्नी फूलवती 65), माला देवी (32) इसकी पुत्री कुमारी कल्पना (3), फिरोजाबाद के थाना दक्षिण के परमेश्वर गेट निवासी शीला देवी (35) उसकी पुत्री योगिता (5), जिला अलीगढ़ के कस्बा हरदुआगंज निवासी रेनू (22) व इसकी पुत्री संजना (4) सड़क किनारे फुटपाथ पर ही सो गये। इसी दौरान करीब चार बजे संभल से आ रही बस यूपी 81 सीटी-0799 के चालक ने तीर्थ यात्रियों पर बस चढ़ा दी। सभी की मौके पर ही मौत हो गई।


  • हिन्दुस्तान : 11/10/2019 मुंबई/लखनऊ ' हिन्दुस्तान टीम :- भाजपा के स्टार प्रचारक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए पहले दिन चार जनसभाएं कीं और कांग्रेस के नेता राहुल गांधी को निशाने पर लिया। सीएम ने गुरुवार को महाराष्ट्र में जलगांव, कोलाबा, परभनी, कांदीवली ईस्ट में जनसभाएं कीं। सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र में बाढ़ आई तो राहुल गांधी देखने तक नहीं आए। उनको पता है कि महाराष्ट्र में चुनावी नतीजे क्या होंगे इसलिए विदेश यात्रा पर हैं। देश में अगर संकट आएगा, तो राहुल गांधी खड़े नहीं होंगे। कहा कि कांग्रेस ने अपनी हार कबूल कर ली है, जिससे राहुल रण छोड़ कर भाग खड़े हुए हैं। योगी ने कहा कि प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में भव्य दिवाली होगी। अयोध्या की दिवाली दुनिया देखती है। उन्होंने बिना राम मंदिर का नाम लिए कहा कि उच्चतम न्यायालय पर उन्हें पूरा भरोसा है। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर जहां खुशहाली का मार्ग प्रशस्त किया है, वहीं कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी ने भ्रष्टाचार किया।
    Close
    योगी ने राहुल गांधी पर निशाना साधा
    हिन्दुस्तान 11/10/2019
    मुंबई/लखनऊ ' हिन्दुस्तान टीम :- भाजपा के स्टार प्रचारक व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए पहले दिन चार जनसभाएं कीं और कांग्रेस के नेता राहुल गांधी को निशाने पर लिया। सीएम ने गुरुवार को महाराष्ट्र में जलगांव, कोलाबा, परभनी, कांदीवली ईस्ट में जनसभाएं कीं। सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र में बाढ़ आई तो राहुल गांधी देखने तक नहीं आए। उनको पता है कि महाराष्ट्र में चुनावी नतीजे क्या होंगे इसलिए विदेश यात्रा पर हैं। देश में अगर संकट आएगा, तो राहुल गांधी खड़े नहीं होंगे। कहा कि कांग्रेस ने अपनी हार कबूल कर ली है, जिससे राहुल रण छोड़ कर भाग खड़े हुए हैं। योगी ने कहा कि प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में भव्य दिवाली होगी। अयोध्या की दिवाली दुनिया देखती है। उन्होंने बिना राम मंदिर का नाम लिए कहा कि उच्चतम न्यायालय पर उन्हें पूरा भरोसा है। पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर जहां खुशहाली का मार्ग प्रशस्त किया है, वहीं कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस और एनसीपी ने भ्रष्टाचार किया।


  • दैनिक जागरण : 10/10/2019 जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि रामायण की कथा हम सबको बड़ा संदेश देती है। त्रेता युग में रावण दुनिया भर के लिए आंतक का पर्याय था। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने 14 साल के वनवास के दौरान जो कल्याणकारी कार्य किए, उसका उन्हें फल मिला और रावण पर विजय हासिल की। रावण सिर्फ त्रेता युग में नहीं, बल्कि हर युग में होता है। समाज में रावण जैसे लोग विपरीत परिस्थितियां उत्पन्न करते हैं। इससे घबराना नहीं चाहिए। ये विपरीत परिस्थितियां संयम न खोने और आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। मुख्यमंत्री मंगलवार को विजयादशमी के अवसर पर गोरखपुर मानसरोवर रामलीला मैदान में भगवान राम के राजतिलक के परंपरागत आयोजन के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि श्रीराम ने वनगमन और रामराज्य की स्थापना के बीच सामाजिक समता और वन्य जीवों का संरक्षण भी किया। उनकी पूरी सेना ने वनवासी समुदाय के लोगों, दलितों, आदिवासियों को एकजुट किया। अयोध्या में आयोजित होने वाले दीपोत्सव की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 26 अक्तूबर को सरयू तट पर 5.51 लाख दीप जलाए जाएंगे। अयोध्या में इस बार छह देशों की रामलीला का मंचन होगा। इन देशों की भाषा भले ही अलग-अलग होगी लेकिन सभी के भाव एक होंगे। थाईलैंड में भगवान श्रीराम की मान्यता का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि वहां के राजा अपने को राम का वंशज मानते हैं। उन्होंने रामलीला के आयोजकों से कहा कि वह रामायण शोध संस्थान के लोगों से बात कर विदेश की रामलीला का गोरखपुर में मंचन कराएं। मुख्यमंत्री ने सभी को विजयादशमी की बधाई दी और भगवान राम के आदर्शों को आत्मसात करने की अपील की।
    Close
    विपरीत परिस्थितियों में जीने की प्रेरणा देते हैं राम : योगी
    दैनिक जागरण 10/10/2019
    जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि रामायण की कथा हम सबको बड़ा संदेश देती है। त्रेता युग में रावण दुनिया भर के लिए आंतक का पर्याय था। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने 14 साल के वनवास के दौरान जो कल्याणकारी कार्य किए, उसका उन्हें फल मिला और रावण पर विजय हासिल की। रावण सिर्फ त्रेता युग में नहीं, बल्कि हर युग में होता है। समाज में रावण जैसे लोग विपरीत परिस्थितियां उत्पन्न करते हैं। इससे घबराना नहीं चाहिए। ये विपरीत परिस्थितियां संयम न खोने और आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। मुख्यमंत्री मंगलवार को विजयादशमी के अवसर पर गोरखपुर मानसरोवर रामलीला मैदान में भगवान राम के राजतिलक के परंपरागत आयोजन के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि श्रीराम ने वनगमन और रामराज्य की स्थापना के बीच सामाजिक समता और वन्य जीवों का संरक्षण भी किया। उनकी पूरी सेना ने वनवासी समुदाय के लोगों, दलितों, आदिवासियों को एकजुट किया। अयोध्या में आयोजित होने वाले दीपोत्सव की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 26 अक्तूबर को सरयू तट पर 5.51 लाख दीप जलाए जाएंगे। अयोध्या में इस बार छह देशों की रामलीला का मंचन होगा। इन देशों की भाषा भले ही अलग-अलग होगी लेकिन सभी के भाव एक होंगे। थाईलैंड में भगवान श्रीराम की मान्यता का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि वहां के राजा अपने को राम का वंशज मानते हैं। उन्होंने रामलीला के आयोजकों से कहा कि वह रामायण शोध संस्थान के लोगों से बात कर विदेश की रामलीला का गोरखपुर में मंचन कराएं। मुख्यमंत्री ने सभी को विजयादशमी की बधाई दी और भगवान राम के आदर्शों को आत्मसात करने की अपील की।


  • राष्ट्रीय सहारा : 06/10/2019 गोरखपुर (एसएनबी)।ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की पावन स्मृति में आयोजित रामकथा के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काफी इंतजार के बाद मोरारी बापू के मुखारविंद से गोरखपुर के लोगों को शारदीय नवरात्रि में रामकथा सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। भगवान राम से जुड़े प्रसंगों की र्चचा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत जल्द राम से जुड़ी एक बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है। हालांकि उन्होंने राम मंदिर का सीधे तौर पर जिक्र नहीं किया लेकिन लोग उनके इशारे को समझते हुए जय श्रीराम का घोष करने लगे।चम्पा देवी पार्क में 13 अक्टूबर तक चलने वाली रामकथा की पृष्ठभूमि की र्चचा करते हुए योगी ने कहा कि बापू कहते थे कि वे शिवावतारी गोरखनाथजी को रामकथा सुनाना चाहते हैं। पर, जब यह अवसर आया तो मौसम की खराबी ने चिंता बढ़ा दी। ऐसा लगा कि भगवान हमारी परीक्षा ले रहे हैं, लेकिन बापू के गोरखपुर आगमन के साथ ही मौसम भी बदल गया। अब बापू की कृपा आप सभी पर बरसेगी। उन्होंने कहा कि हिन्दू धर्म की परंपरा भगवान विष्णु के जिन अवतारों पर ज्यादा विास करती है, उनमें श्रीराम की मर्यादा एक आदर्श है। जीवन के किसी भी पक्ष में आई समस्या का सामना करने के लिए भगवान राम के जीवन से जुड़े प्रसंग प्रेरणा देते हैं। भारत में भगवान राम घर-घर में तथा लोगों के श्वास-श्वास में बसे हुए हैं। भगवान श्रीराम के प्रति लोगों की श्रद्धा-भक्ति का चितण्रकरते हुए उन्होंने कहा कि 90 के दशक में जब रामायण धारावाहिक टीवी पर आता था तो लोग सबकुछ छोड़ कर रामायण ही देखते थे। उन्होंने कहा कि राम की भक्ति ही राष्ट्र की शक्ति है।
    Close
    भगवान राम से जुड़ी खुशखबरी जल्द : योगी
    राष्ट्रीय सहारा 06/10/2019
    गोरखपुर (एसएनबी)।ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की पावन स्मृति में आयोजित रामकथा के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि काफी इंतजार के बाद मोरारी बापू के मुखारविंद से गोरखपुर के लोगों को शारदीय नवरात्रि में रामकथा सुनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। भगवान राम से जुड़े प्रसंगों की र्चचा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत जल्द राम से जुड़ी एक बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है। हालांकि उन्होंने राम मंदिर का सीधे तौर पर जिक्र नहीं किया लेकिन लोग उनके इशारे को समझते हुए जय श्रीराम का घोष करने लगे।चम्पा देवी पार्क में 13 अक्टूबर तक चलने वाली रामकथा की पृष्ठभूमि की र्चचा करते हुए योगी ने कहा कि बापू कहते थे कि वे शिवावतारी गोरखनाथजी को रामकथा सुनाना चाहते हैं। पर, जब यह अवसर आया तो मौसम की खराबी ने चिंता बढ़ा दी। ऐसा लगा कि भगवान हमारी परीक्षा ले रहे हैं, लेकिन बापू के गोरखपुर आगमन के साथ ही मौसम भी बदल गया। अब बापू की कृपा आप सभी पर बरसेगी। उन्होंने कहा कि हिन्दू धर्म की परंपरा भगवान विष्णु के जिन अवतारों पर ज्यादा विास करती है, उनमें श्रीराम की मर्यादा एक आदर्श है। जीवन के किसी भी पक्ष में आई समस्या का सामना करने के लिए भगवान राम के जीवन से जुड़े प्रसंग प्रेरणा देते हैं। भारत में भगवान राम घर-घर में तथा लोगों के श्वास-श्वास में बसे हुए हैं। भगवान श्रीराम के प्रति लोगों की श्रद्धा-भक्ति का चितण्रकरते हुए उन्होंने कहा कि 90 के दशक में जब रामायण धारावाहिक टीवी पर आता था तो लोग सबकुछ छोड़ कर रामायण ही देखते थे। उन्होंने कहा कि राम की भक्ति ही राष्ट्र की शक्ति है।


  • हिन्दुस्तान : 05/10/2019 लखनऊ ' वरिष्ठ संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ के इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में वन्यजीव संरक्षण जागरूकता मोबाइल ऐप का शुभारंभ किया। वे यहां वन्य प्राणि सप्ताह का शुभारंभ करने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि अगर वन विभाग, पर्यटन विभाग, सांस्कृतिक विभाग समेत सभी सम्बंधित विभाग आपस में मिलकर कार्य करेंगे तो जैव विविधता और वन्य जीवों के संरक्षण में एक महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। इस मौके पर वन्य जीव सप्ताह 2019 के विजेताओं को भी उन्होंने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने वन विभाग की ओर से परिसर में लगाई गई प्रदर्शनी भी देखी। अत्याधुनिक उपकरणों को देखकर उन्होंने उसकी विशेषताओं की भी जानकारी ली। वन जीवों के संरक्षण के लिए वाहनों का हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्राचीन भारतीय परंपरा ने सदैव ही जैव विविधता को सम्मान दिया है। साथ ही उसके संरक्षण पर भी बल दिया है। हम जीवों कि सुरक्षा करके ही सृष्टि की सुरक्षा कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी मनुष्य ने प्रकृति के नियमों से छेड़छाड़ किया है, तो इसके व्यापक दुष्परिणामों को भी भुगता है। विगत ढाई वर्ष के दौरान वन्य विभाग के द्वारा प्रथम वर्ष में लगभग छह करोड़, अगले वर्ष 11 करोड़ और तीसरे वर्ष में लगभग 22 करोड़ 59 लाख वृक्षारोपण करना वन्य विभाग की अच्छी छवि को प्रदर्शित करता है। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गुजरात से प्राप्त सात बाघों का प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। सम्पूर्ण सृष्टि का खतरनाक प्राणि मनुष्य सबको नुकसान पहुंचाता है मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जीवन एक चक्र का स्वरुप है जो सदैव चलता रहता है। हर प्राणी एक दूसरे पर निर्भर है, सम्पूर्ण सृष्टि में सबसे खतरनाक प्राणि मनुष्य है जो सबको नुकसान पहुंचाता है। लेकिन वन्य प्राणी किसी को भी तब तक नुकसान नहीं पहुंचाता जब तक उसको आप से खतरा महसूस ना हो। इस मौके पर पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री दारा सिंह चौहान, मंत्री अनिल शर्मा मौजूद थे।
    Close
    वन्यजीव संरक्षण के लिए तालमेल हो : योगी
    हिन्दुस्तान 05/10/2019
    लखनऊ ' वरिष्ठ संवाददाता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ के इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में वन्यजीव संरक्षण जागरूकता मोबाइल ऐप का शुभारंभ किया। वे यहां वन्य प्राणि सप्ताह का शुभारंभ करने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि अगर वन विभाग, पर्यटन विभाग, सांस्कृतिक विभाग समेत सभी सम्बंधित विभाग आपस में मिलकर कार्य करेंगे तो जैव विविधता और वन्य जीवों के संरक्षण में एक महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। इस मौके पर वन्य जीव सप्ताह 2019 के विजेताओं को भी उन्होंने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने वन विभाग की ओर से परिसर में लगाई गई प्रदर्शनी भी देखी। अत्याधुनिक उपकरणों को देखकर उन्होंने उसकी विशेषताओं की भी जानकारी ली। वन जीवों के संरक्षण के लिए वाहनों का हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्राचीन भारतीय परंपरा ने सदैव ही जैव विविधता को सम्मान दिया है। साथ ही उसके संरक्षण पर भी बल दिया है। हम जीवों कि सुरक्षा करके ही सृष्टि की सुरक्षा कर सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी मनुष्य ने प्रकृति के नियमों से छेड़छाड़ किया है, तो इसके व्यापक दुष्परिणामों को भी भुगता है। विगत ढाई वर्ष के दौरान वन्य विभाग के द्वारा प्रथम वर्ष में लगभग छह करोड़, अगले वर्ष 11 करोड़ और तीसरे वर्ष में लगभग 22 करोड़ 59 लाख वृक्षारोपण करना वन्य विभाग की अच्छी छवि को प्रदर्शित करता है। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गुजरात से प्राप्त सात बाघों का प्रमाण पत्र प्रदान किए गए। सम्पूर्ण सृष्टि का खतरनाक प्राणि मनुष्य सबको नुकसान पहुंचाता है मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जीवन एक चक्र का स्वरुप है जो सदैव चलता रहता है। हर प्राणी एक दूसरे पर निर्भर है, सम्पूर्ण सृष्टि में सबसे खतरनाक प्राणि मनुष्य है जो सबको नुकसान पहुंचाता है। लेकिन वन्य प्राणी किसी को भी तब तक नुकसान नहीं पहुंचाता जब तक उसको आप से खतरा महसूस ना हो। इस मौके पर पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री दारा सिंह चौहान, मंत्री अनिल शर्मा मौजूद थे।


  • दैनिक जागरण : 04/10/2019 राज्य ब्यूरो, लखनऊ : विधानमंडल के करीब 36 घंटे 45 मिनट चले विशेष सत्र के समापन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विपक्ष पर बरसे। गांधी दर्शन को अंगीकार करने की सलाह देने वाली कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा पर पलटवार करते हुए योगी ने कहा कामनवेल्थ जैसे घोटालों के दौरान कांग्रेस गांधी के दर्शन को भूल गई थी। वहीं बसपा को बाढ़ पीड़ितों को मदद देने के मुद्दे पर उन्होंने घेरा। सत्र में शामिल नहीं होकर विधानभवन प्रागंण में धरना देने वाले सपा नेताओं को जातिवाद और सत्ता के जरिये लूट खसोट में लिप्त रहने वाला करार दिया। गुरुवार को देर रात 10 बजे दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में मुख्यमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा निर्धारित सतत विकास के 16 लक्ष्यों को पाने की कार्ययोजना के बारे में बताया। एक घंटा 35 मिनट के संबोधन में उन्होंने गरीबी, शिक्षा, रोजगार के मुद्दे पर विपक्ष को आड़े हाथ लिया। कहा कि इन मसलों पर सरकार से 48 घंटे चर्चा कराने की मांग करने वाले विपक्षी दलों को सदन में एक मिनट भी ठहरना गंवारा नहीं हुआ। सत्र में शामिल होने के बजाए नौ दो ग्यारह हो गए। सत्र के बहिष्कार से विपक्ष का चेहरा बेनकाब हो गया है। योगी ने कहा कि विशेष सत्र से साबित हुआ कि जनता ने वर्ष 2014, 2017 और 2019 में जो फैसला दिया वह आंख बंद करके नहीं दिया। जनता को मालूम है कि उनके हितों के लिए हम ही कार्य सकते हैं। मुख्यमंत्री ने तुलसीदास की चौपाई उद्धृत की ‘जहां सुमति तहां संपत्ति नाना, जहां कुमति तहां विपति निदाना। कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस का विकास से कोई मतलब नहीं है। उन्होंने सत्र में शामिल होने पर प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव, बसपा के बागी अनिल सिंह, असलम राइनी, सपा के नितिन अग्रवाल व कांग्रेस के राकेश सिंह और अदिति सिंह के अलावा सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया।
    Close
    कामनवेल्थ घोटाले में गांधी का दर्शन भूली थी कांग्रेस : योगी
    दैनिक जागरण 04/10/2019
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ : विधानमंडल के करीब 36 घंटे 45 मिनट चले विशेष सत्र के समापन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विपक्ष पर बरसे। गांधी दर्शन को अंगीकार करने की सलाह देने वाली कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा पर पलटवार करते हुए योगी ने कहा कामनवेल्थ जैसे घोटालों के दौरान कांग्रेस गांधी के दर्शन को भूल गई थी। वहीं बसपा को बाढ़ पीड़ितों को मदद देने के मुद्दे पर उन्होंने घेरा। सत्र में शामिल नहीं होकर विधानभवन प्रागंण में धरना देने वाले सपा नेताओं को जातिवाद और सत्ता के जरिये लूट खसोट में लिप्त रहने वाला करार दिया। गुरुवार को देर रात 10 बजे दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में मुख्यमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा निर्धारित सतत विकास के 16 लक्ष्यों को पाने की कार्ययोजना के बारे में बताया। एक घंटा 35 मिनट के संबोधन में उन्होंने गरीबी, शिक्षा, रोजगार के मुद्दे पर विपक्ष को आड़े हाथ लिया। कहा कि इन मसलों पर सरकार से 48 घंटे चर्चा कराने की मांग करने वाले विपक्षी दलों को सदन में एक मिनट भी ठहरना गंवारा नहीं हुआ। सत्र में शामिल होने के बजाए नौ दो ग्यारह हो गए। सत्र के बहिष्कार से विपक्ष का चेहरा बेनकाब हो गया है। योगी ने कहा कि विशेष सत्र से साबित हुआ कि जनता ने वर्ष 2014, 2017 और 2019 में जो फैसला दिया वह आंख बंद करके नहीं दिया। जनता को मालूम है कि उनके हितों के लिए हम ही कार्य सकते हैं। मुख्यमंत्री ने तुलसीदास की चौपाई उद्धृत की ‘जहां सुमति तहां संपत्ति नाना, जहां कुमति तहां विपति निदाना। कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस का विकास से कोई मतलब नहीं है। उन्होंने सत्र में शामिल होने पर प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल यादव, बसपा के बागी अनिल सिंह, असलम राइनी, सपा के नितिन अग्रवाल व कांग्रेस के राकेश सिंह और अदिति सिंह के अलावा सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया।


  • राष्ट्रीय सहारा : 03/10/2019 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा के विशेष सत्र में आरोप लगाया कि राज्य में 1977-78 से 2017 तक विपक्ष की सरकारों ने इंसेफेलाइटिस(जेई) रोग से बचाव के लिए कुछ नहीं किया, जिसके कारण पिछले चालीस सालों में लगभग 50 हजार बच्चों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इनमें अधिकतर बच्चे दलितों और अल्पसंख्यकों के थे।योगी ने कहा कि पहली बार 1977 में इंसेफेलाइटिस के रोगी का पता चला, लेकिन किसी भी विपक्षी सरकार ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के 38 जिलों में फैले इस रोग से बचाव के लिये कोई भी प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि जब 1988 में मैं पहली बार सांसद बना, तो यह मुददा उठाया। उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 2016 में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के 2900 रोगी सामने आये, जिनमें से 491 की मौत हो गयी। 2017 में 3911 मामले आये और इनमें 641 बच्चों की मौत हुई। उन्होंने कहा कि 2019 में 30 अगस्त तक इस रोग के 938 मामले सामने आये और इनमें से 35 की मौत हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम वर्क की वजह से हमारी सरकार ने स्वच्छता पर जोर दिया और इस बीमारी को फैलने से रोका। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में विषाणुजनित रोगों को फैलने से रोकने के प्रयास किए गए। इसी कारण प्रदेश में डेंगू, मलेरिया, फाइलेरिया, इंसेफेलाइटिस और चिकनगुनिया नहीं फैला और ऐसा स्वच्छ भारत अभियान पर ध्यान केंद्रित करने से संभव हुआ।
    Close
    विपक्षी सरकारों ने जेई से बचाव के नहीं किये उपाय : मुख्यमंत्री
    राष्ट्रीय सहारा 03/10/2019
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को विधानसभा के विशेष सत्र में आरोप लगाया कि राज्य में 1977-78 से 2017 तक विपक्ष की सरकारों ने इंसेफेलाइटिस(जेई) रोग से बचाव के लिए कुछ नहीं किया, जिसके कारण पिछले चालीस सालों में लगभग 50 हजार बच्चों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इनमें अधिकतर बच्चे दलितों और अल्पसंख्यकों के थे।योगी ने कहा कि पहली बार 1977 में इंसेफेलाइटिस के रोगी का पता चला, लेकिन किसी भी विपक्षी सरकार ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के 38 जिलों में फैले इस रोग से बचाव के लिये कोई भी प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि जब 1988 में मैं पहली बार सांसद बना, तो यह मुददा उठाया। उन्होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 2016 में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के 2900 रोगी सामने आये, जिनमें से 491 की मौत हो गयी। 2017 में 3911 मामले आये और इनमें 641 बच्चों की मौत हुई। उन्होंने कहा कि 2019 में 30 अगस्त तक इस रोग के 938 मामले सामने आये और इनमें से 35 की मौत हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम वर्क की वजह से हमारी सरकार ने स्वच्छता पर जोर दिया और इस बीमारी को फैलने से रोका। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में विषाणुजनित रोगों को फैलने से रोकने के प्रयास किए गए। इसी कारण प्रदेश में डेंगू, मलेरिया, फाइलेरिया, इंसेफेलाइटिस और चिकनगुनिया नहीं फैला और ऐसा स्वच्छ भारत अभियान पर ध्यान केंद्रित करने से संभव हुआ।

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें