समाचार
वर्ष : माह :
  • हिन्दुस्तान : 17/02/2020 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) में खुद के उद्यम से पांच लाख से अधिक युवाओं को रोजगार मिला है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा देश की अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन डॉलर बनाने की है। हमारे परम्परागत उद्यमी उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने में प्राण-प्रण से अपना योगदान देंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वाराणसी में ‘काशी एक रूप अनेक' प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ओडीओपी योजना के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। हस्तशिल्पियों को आगे बढ़ाने के लिए केंद्र व राज्य सरकार की कई योजनाएं हैं, जिनका लोग फायदा उठा रहे हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैंड अप और स्टार्टअप इंडिया के साथ जुड़कर अकेले ओडीओपी में पांच लाख से अधिक नौजवानों ने रोजगार पाया और स्वयं का उद्यम स्थापित किया है।
    Close
    खुद के उद्यम से पांच लाख को रोजगार : योगी
    हिन्दुस्तान 17/02/2020
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) में खुद के उद्यम से पांच लाख से अधिक युवाओं को रोजगार मिला है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा देश की अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन डॉलर बनाने की है। हमारे परम्परागत उद्यमी उत्तर प्रदेश को एक ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने में प्राण-प्रण से अपना योगदान देंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वाराणसी में ‘काशी एक रूप अनेक' प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में ओडीओपी योजना के सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। हस्तशिल्पियों को आगे बढ़ाने के लिए केंद्र व राज्य सरकार की कई योजनाएं हैं, जिनका लोग फायदा उठा रहे हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैंड अप और स्टार्टअप इंडिया के साथ जुड़कर अकेले ओडीओपी में पांच लाख से अधिक नौजवानों ने रोजगार पाया और स्वयं का उद्यम स्थापित किया है।


  • हिन्दुस्तान : 16/02/2020 लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों से कहा है कि वह बिना किसी तनाव के मन लगाकर परीक्षा दें। सीबीएसई की परीक्षाएं शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री ने शनिवार को ट्वीट कर परीक्षा देने जा रहे बच्चों से कहा, प्यारे विद्यार्थियों,युवा साथियों बिना किसी तनाव के या दबाव को महसूस किए, एकाग्र होकर एवं मन लगा कर परीक्षा दीजिए। मेहनत और लगन का कोई विकल्प नहीं है और इसका परिणाम सदैव सुखद होता है। उनकी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।
    Close
    न लगाकर परीक्षा दीजिए : सीएम
    हिन्दुस्तान 16/02/2020
    लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्चों से कहा है कि वह बिना किसी तनाव के मन लगाकर परीक्षा दें। सीबीएसई की परीक्षाएं शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री ने शनिवार को ट्वीट कर परीक्षा देने जा रहे बच्चों से कहा, प्यारे विद्यार्थियों,युवा साथियों बिना किसी तनाव के या दबाव को महसूस किए, एकाग्र होकर एवं मन लगा कर परीक्षा दीजिए। मेहनत और लगन का कोई विकल्प नहीं है और इसका परिणाम सदैव सुखद होता है। उनकी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।


  • दैनिक जागरण : 14/02/2020 राज्य ब्यूरो, लखनऊ: भारत-नेपाल के सांस्कृतिक और आध्यात्मिक संबंध को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साझी विरासत बताया है। उन्होंने कहा कि इसमें राजनीति बाधक नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को कालिदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर आयोजित द्वितीय भारत-नेपाल द्विपक्षीय वार्ता को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम इंडिया फाउंडेशन, नीति अनुसंधान प्रतिष्ठान नेपाल और नेपाल-इंडो चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एनआइसीसीआइ) काठमांडू ने आयोजित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के लिए यह बेहतरीन पहल है। भारत-नेपाल प्राचीन काल से दो शरीर हैं, लेकिन हमारी सांस्कृतिक विरासत एक-दूसरे को एकात्म में जोड़ती है। दोनों देशों का एक-दूसरे से हित जुड़ा है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में नेपाल के लोग एक सामान्य सिपाही से लेकर उच्च पदों पर हैं। ये भारत का विश्वास है। इसी विश्वास पर साझी विरासत टिकी है। योगी ने कहा कि नेपाल टूरिज्म का सबसे बड़ा हब बन सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ से पशुपतिनाथ जी को जोड़ा है। जनकपुरी से अयोध्या को जोड़ा गया। वाराणसी अगर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा है तो काठमांडू क्यों पीछे रहे? मुख्यमंत्री ने कहा कि नेपाल को पहचानना होगा कि उसका शत्रु कौन है और मित्र कौन है? सुझाव दिया कि काशी विश्वनाथ मंदिर की तरह नेपाल अपने मंदिरों और सांस्कृतिक धरोहर को रोजगार से जोड़ सकता है।
    Close
    भारत और नेपाल के संबंध साझी विरासत
    दैनिक जागरण 14/02/2020
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ: भारत-नेपाल के सांस्कृतिक और आध्यात्मिक संबंध को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साझी विरासत बताया है। उन्होंने कहा कि इसमें राजनीति बाधक नहीं होनी चाहिए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को कालिदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर आयोजित द्वितीय भारत-नेपाल द्विपक्षीय वार्ता को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम इंडिया फाउंडेशन, नीति अनुसंधान प्रतिष्ठान नेपाल और नेपाल-इंडो चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एनआइसीसीआइ) काठमांडू ने आयोजित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के लिए यह बेहतरीन पहल है। भारत-नेपाल प्राचीन काल से दो शरीर हैं, लेकिन हमारी सांस्कृतिक विरासत एक-दूसरे को एकात्म में जोड़ती है। दोनों देशों का एक-दूसरे से हित जुड़ा है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में नेपाल के लोग एक सामान्य सिपाही से लेकर उच्च पदों पर हैं। ये भारत का विश्वास है। इसी विश्वास पर साझी विरासत टिकी है। योगी ने कहा कि नेपाल टूरिज्म का सबसे बड़ा हब बन सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ से पशुपतिनाथ जी को जोड़ा है। जनकपुरी से अयोध्या को जोड़ा गया। वाराणसी अगर स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित हो रहा है तो काठमांडू क्यों पीछे रहे? मुख्यमंत्री ने कहा कि नेपाल को पहचानना होगा कि उसका शत्रु कौन है और मित्र कौन है? सुझाव दिया कि काशी विश्वनाथ मंदिर की तरह नेपाल अपने मंदिरों और सांस्कृतिक धरोहर को रोजगार से जोड़ सकता है।


  • दैनिक जागरण : 13/02/2020 राज्य ब्यूरो, लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा विधायकों को आइपैड और टैबलेट का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि प्रदेश सरकार का कामकाज जल्द ही कागजरहित हो जाएगा। इसकी शुरुआत कैबिनेट के कामकाज से होगी। गुरुवार को आरंभ हो रहे बजट सत्र से पहले पार्टी विधायकों की बैठक में मुख्यमंत्री ने उन्हें सदन में पूरी तैयारियों के साथ आने और किसी एक विषय पर बोलने की हिदायत दी। सरकार की कार्य शैली को स्मार्ट बनाने पर जोर देते हुए योगी ने विधायकों से आइपैड, लैपटॉप और टैबलेट का अधिकतम प्रयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इससे तेजी से काम होंगे और कागजी खानापूर्ति भी घटेगी। बजट सत्र लंबी अवधि तक चलने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसमें प्रत्येक विधायक को बोलना चाहिए। उन्होंने मंत्रियों को भी तैयारी के साथ सदन में आने के निर्देश दिए। कहा कि विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश करेगा तो मंत्रियों की जिम्मेदारी होगी कि तैयारी से आएं। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने भी मंत्रियों को अपने विभाग से संबंधित सभी जानकारी और सूचनाएं जुटाने को कहा ताकि सवालों का ठीक से उत्तर दिया जा सके।
    Close
    हाईटेक हों विधायक, पेपरलेस होगा कामकाज : योगी
    दैनिक जागरण 13/02/2020
    राज्य ब्यूरो, लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा विधायकों को आइपैड और टैबलेट का इस्तेमाल करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि प्रदेश सरकार का कामकाज जल्द ही कागजरहित हो जाएगा। इसकी शुरुआत कैबिनेट के कामकाज से होगी। गुरुवार को आरंभ हो रहे बजट सत्र से पहले पार्टी विधायकों की बैठक में मुख्यमंत्री ने उन्हें सदन में पूरी तैयारियों के साथ आने और किसी एक विषय पर बोलने की हिदायत दी। सरकार की कार्य शैली को स्मार्ट बनाने पर जोर देते हुए योगी ने विधायकों से आइपैड, लैपटॉप और टैबलेट का अधिकतम प्रयोग करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि इससे तेजी से काम होंगे और कागजी खानापूर्ति भी घटेगी। बजट सत्र लंबी अवधि तक चलने का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसमें प्रत्येक विधायक को बोलना चाहिए। उन्होंने मंत्रियों को भी तैयारी के साथ सदन में आने के निर्देश दिए। कहा कि विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश करेगा तो मंत्रियों की जिम्मेदारी होगी कि तैयारी से आएं। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने भी मंत्रियों को अपने विभाग से संबंधित सभी जानकारी और सूचनाएं जुटाने को कहा ताकि सवालों का ठीक से उत्तर दिया जा सके।


  • राष्ट्रीय सहारा : 12/02/2020 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा‚ शिक्षा और स्वास्थ्य के साथ ही उन्हें समाज में बराबरी दिलाने को जनकल्याणकारी योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं से लोगों की सोच में महिलाओं के प्रति सकारात्मक बदलाव आया है। उन्होंने राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष व सदस्यों का आह्वान किया कि वे सरकार की योजनाओं के लिए महिलाओं को जागरूक करने को न्याय पंचायत स्तर तक अभियान चलाएं। मुख्यमंत्री मंगलवार को यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्य महिला आयोग द्वारा आयोजित ‘महिला जागरूकता कार्यक्रम' का उद्घाटन करने के बाद विभिन्न प्रदेशों से आयीं महिला आयोग की अध्यक्ष व सदस्यों के साथ अन्य महिलाओं को सम्बोधित कर रहे थे। योगी ने कहा महिलाएं समाज का आधा हिस्सा है‚ इनकी अनदेखी कर किसी समाज का विकास नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा महिला आयोग सिर्फ शिकायतों की सुनवाई तक ही अपने को सीमित न करें। आयोग का दायित्व बनता है कि वे उज्ज्वला योजना‚ स्वच्छता मिशन व इनसे जुड़ी योजनाओं का महिलाओं में प्रचार करने को स्थानीय निकाय व हर ग्राम पंचायत स्तर पर समिति गठित करे। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की बेटी बचाओ–बेटी पढ़ाओ योजना का जिक्र करते हुए कहा‚ इससे प्रदेश में बेटे–बेटी का लिंगानुपात बेहतर हुआ है। इन्द्र धनुष योजना के जरिए टीकाकरण को शत–प्रतिशत सफलता मिली है। उन्होंने कहा राज्य में वृहद स्तर पर शौचालयों का निर्माण हुआ जो स्वास्थ्य के साथ नारी की गरिमा से भी जुड़़ा है। प्रधानमंत्री के प्रयास से तीन तलाक की कुप्रथा भी खत्म हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए राज्य में तीन महिला पीएसी वाहिनियों का गठन किया गया है। राज्य में महिलाओं को सुरक्षित वातावरण तथा त्वरित न्याय दिलाने को २१८ फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित हुई हैं। उन्होंने कहा उनकी सरकार ने महिलाओं में सुरक्षा भावना लाने को अब रात में किसी भी महिला को पुलिस सुरक्षित घर पहंुचा रही है। कार्यक्रम में वित्तमंत्री सुरेश खन्ना‚ जलशक्ति मंत्री ड़ा. महेन्द्र कुमार सिंह‚ राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा‚ यूपी की प्रभारी चन्द्रमुखी‚ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम‚ उपाध्यक्ष सुषमा सिंह और उपाध्यक्ष अंजू चौधरी के साथ ही लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया प्रमुख रूप से मौजूद थीं।
    Close
    सुरक्षा व स्वास्थ्य के प्रति महिलाओं को जागरूक करेंः सीएम
    राष्ट्रीय सहारा 12/02/2020
    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है उनकी सरकार महिलाओं की सुरक्षा‚ शिक्षा और स्वास्थ्य के साथ ही उन्हें समाज में बराबरी दिलाने को जनकल्याणकारी योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं से लोगों की सोच में महिलाओं के प्रति सकारात्मक बदलाव आया है। उन्होंने राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष व सदस्यों का आह्वान किया कि वे सरकार की योजनाओं के लिए महिलाओं को जागरूक करने को न्याय पंचायत स्तर तक अभियान चलाएं। मुख्यमंत्री मंगलवार को यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में राज्य महिला आयोग द्वारा आयोजित ‘महिला जागरूकता कार्यक्रम' का उद्घाटन करने के बाद विभिन्न प्रदेशों से आयीं महिला आयोग की अध्यक्ष व सदस्यों के साथ अन्य महिलाओं को सम्बोधित कर रहे थे। योगी ने कहा महिलाएं समाज का आधा हिस्सा है‚ इनकी अनदेखी कर किसी समाज का विकास नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा महिला आयोग सिर्फ शिकायतों की सुनवाई तक ही अपने को सीमित न करें। आयोग का दायित्व बनता है कि वे उज्ज्वला योजना‚ स्वच्छता मिशन व इनसे जुड़ी योजनाओं का महिलाओं में प्रचार करने को स्थानीय निकाय व हर ग्राम पंचायत स्तर पर समिति गठित करे। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की बेटी बचाओ–बेटी पढ़ाओ योजना का जिक्र करते हुए कहा‚ इससे प्रदेश में बेटे–बेटी का लिंगानुपात बेहतर हुआ है। इन्द्र धनुष योजना के जरिए टीकाकरण को शत–प्रतिशत सफलता मिली है। उन्होंने कहा राज्य में वृहद स्तर पर शौचालयों का निर्माण हुआ जो स्वास्थ्य के साथ नारी की गरिमा से भी जुड़़ा है। प्रधानमंत्री के प्रयास से तीन तलाक की कुप्रथा भी खत्म हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए राज्य में तीन महिला पीएसी वाहिनियों का गठन किया गया है। राज्य में महिलाओं को सुरक्षित वातावरण तथा त्वरित न्याय दिलाने को २१८ फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित हुई हैं। उन्होंने कहा उनकी सरकार ने महिलाओं में सुरक्षा भावना लाने को अब रात में किसी भी महिला को पुलिस सुरक्षित घर पहंुचा रही है। कार्यक्रम में वित्तमंत्री सुरेश खन्ना‚ जलशक्ति मंत्री ड़ा. महेन्द्र कुमार सिंह‚ राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा‚ यूपी की प्रभारी चन्द्रमुखी‚ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम‚ उपाध्यक्ष सुषमा सिंह और उपाध्यक्ष अंजू चौधरी के साथ ही लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया प्रमुख रूप से मौजूद थीं।


  • दैनिक जागरण : 11/02/2020 जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षण-प्रशिक्षण संस्थानों को विदेशों में शिक्षकों को भेजे जाने की संभावना तलाशने और वहां की मांग के मुताबिक शिक्षक तैयार करने की सलाह दी है। देश व प्रदेश को सर्वाधिक युवाओं वाला देश व राज्य बताते हुए उन्होंने यहां से शिक्षकों को बड़ी संख्या में विदेश भेजे जाने पर जोर दिया। मुख्यमंत्री सोमवार को ‘भारतीय संस्कृति के सांस्कृतिक मूल्य : महंत अवेद्यनाथ’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। दिग्विजयनाथ एलटी प्रशिक्षण कॉलेज में आयोजित गोष्ठी के दौरान मुख्यमंत्री ने संस्थानों को एक सेल गठित करने की सलाह दी, जो दुनियाभर में शिक्षकों की जरूरत पर काम करे। उन्होंने तीन माह का भाषा कोर्स चलाने को भी कहा। दूसरे राज्यों और देशों में शिक्षण कार्य करने वालों की लंबी परंपरा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह शिक्षक न केवल दुनिया को ज्ञान देने में भारतीयों की भूमिका सुनिश्चित कर रहे हैं बल्कि राष्ट्र की आर्थिक समृद्धि में सहभागी भी बन रहे हैं। निर्यात की मात्र से ही देश-प्रदेश की ताकत का अंदाजा लगता है, ऐसे में शिक्षकों के विदेश जाने से दुनिया को हमारी शैक्षणिक ताकत का पता चलेगा। वहीं दक्षिण पूर्व एशिया के लोग सौभाग्य मानेंगे कि भगवान बुद्ध के देश का शिक्षक उन्हें शिक्षित करने आया है।
    Close
    पूरी दुनिया के लिए शिक्षक तैयार करें प्रशिक्षण संस्थान
    दैनिक जागरण 11/02/2020
    जागरण संवाददाता, गोरखपुर : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिक्षण-प्रशिक्षण संस्थानों को विदेशों में शिक्षकों को भेजे जाने की संभावना तलाशने और वहां की मांग के मुताबिक शिक्षक तैयार करने की सलाह दी है। देश व प्रदेश को सर्वाधिक युवाओं वाला देश व राज्य बताते हुए उन्होंने यहां से शिक्षकों को बड़ी संख्या में विदेश भेजे जाने पर जोर दिया। मुख्यमंत्री सोमवार को ‘भारतीय संस्कृति के सांस्कृतिक मूल्य : महंत अवेद्यनाथ’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। दिग्विजयनाथ एलटी प्रशिक्षण कॉलेज में आयोजित गोष्ठी के दौरान मुख्यमंत्री ने संस्थानों को एक सेल गठित करने की सलाह दी, जो दुनियाभर में शिक्षकों की जरूरत पर काम करे। उन्होंने तीन माह का भाषा कोर्स चलाने को भी कहा। दूसरे राज्यों और देशों में शिक्षण कार्य करने वालों की लंबी परंपरा का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह शिक्षक न केवल दुनिया को ज्ञान देने में भारतीयों की भूमिका सुनिश्चित कर रहे हैं बल्कि राष्ट्र की आर्थिक समृद्धि में सहभागी भी बन रहे हैं। निर्यात की मात्र से ही देश-प्रदेश की ताकत का अंदाजा लगता है, ऐसे में शिक्षकों के विदेश जाने से दुनिया को हमारी शैक्षणिक ताकत का पता चलेगा। वहीं दक्षिण पूर्व एशिया के लोग सौभाग्य मानेंगे कि भगवान बुद्ध के देश का शिक्षक उन्हें शिक्षित करने आया है।


  • हिन्दुस्तान : 09/02/2020 लखनऊ ' प्रमुख संवाददाता :- यूपी बोर्ड परीक्षा नकलविहीन करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगभग डेढ़ दर्जन जिलों के डीआईओएस को चेतावनी दी है। वहीं मुख्यमंत्री ने सुलतानपुर के डीआईओएस नरेंद्र देव को सख्त लहजे में फटकार लगाई और कहा कि 3 दिन के भीतर परीक्षा केंद्र आवंटन को लेकर हुई गड़बड़ियों को ठीक किया जाए। उन्होंने कहा कि परीक्षा में किसी भी तरह की गड़बड़ी पाए जाने पर अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू हो रही हैं। सुलतानपुर में जिलाधिकारी ने परीक्षा केंद्रों के आवंटन निर्धारित करने में तथ्यों को छुपाने का शिकायत की है। मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि इन शिकायतों का परीक्षण किया जाए और शिकायतों को दूर किया जाए। विकलांग और बालिकाओं का केंद्र नजदीक किया जाए। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग परीक्षा केंद्र तक सड़क गड्डा मुक्त करे। मुख्यमंत्री ने सुलतानपुर, गाजीपुर, बलिया, जौनपुर, देवरिया, सहारनपुर, बागपत, मथुरा, आगरा, फिरोजाबाद अलीगढ़, एटा, इटावा, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, भदोही प्रयागराज, हरदोई, बांदा के डीआईओएस से एक-एक करके बात की और कहा कि आपके यहां जो परीक्षा केंद्र आवंटन को लेकर शिकायतें आईं हैं, उन्हें दूर किया जाए।
    Close
    डेढ़ दर्जन जिलों के डीआईओएस को चेतावनी
    हिन्दुस्तान 09/02/2020
    लखनऊ ' प्रमुख संवाददाता :- यूपी बोर्ड परीक्षा नकलविहीन करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगभग डेढ़ दर्जन जिलों के डीआईओएस को चेतावनी दी है। वहीं मुख्यमंत्री ने सुलतानपुर के डीआईओएस नरेंद्र देव को सख्त लहजे में फटकार लगाई और कहा कि 3 दिन के भीतर परीक्षा केंद्र आवंटन को लेकर हुई गड़बड़ियों को ठीक किया जाए। उन्होंने कहा कि परीक्षा में किसी भी तरह की गड़बड़ी पाए जाने पर अधिकारी को बख्शा नहीं जाएगा। यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू हो रही हैं। सुलतानपुर में जिलाधिकारी ने परीक्षा केंद्रों के आवंटन निर्धारित करने में तथ्यों को छुपाने का शिकायत की है। मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि इन शिकायतों का परीक्षण किया जाए और शिकायतों को दूर किया जाए। विकलांग और बालिकाओं का केंद्र नजदीक किया जाए। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग परीक्षा केंद्र तक सड़क गड्डा मुक्त करे। मुख्यमंत्री ने सुलतानपुर, गाजीपुर, बलिया, जौनपुर, देवरिया, सहारनपुर, बागपत, मथुरा, आगरा, फिरोजाबाद अलीगढ़, एटा, इटावा, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, भदोही प्रयागराज, हरदोई, बांदा के डीआईओएस से एक-एक करके बात की और कहा कि आपके यहां जो परीक्षा केंद्र आवंटन को लेकर शिकायतें आईं हैं, उन्हें दूर किया जाए।


  • राष्ट्रीय सहारा : 08/02/2020 सहारा न्यूज ब्यूरो, लखनऊ :- डि़फेंस एक्सपो–२०२० ने यूपी की क्षमताओं को देश–दुनिया के पटल पर स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है। इसका ही नतीजा है कि देश–विदेश की अनेक कम्पनियों ने राज्य के डि़फेंस कारिड़ोर में निवेश करने को समझौते किए। इस सफलता से गदगद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा‚ ‘डि़फेंस कारिड़ोर रक्षा निवेश से यूपी की इकोनामी सुदृढ़ होगी।' मुख्यमंत्री शुक्रवार को डि़फेंस एक्सपो के इनारगल पैवेलियन में साइनिंग आफ एमओयूज‚ प्रोड़क्ट लान्चिंग एंड़ मेजर एनाउन्समेंट प्रोग्राम ‘बंधन' में शामिल निवेशकों‚ सेना के अफसरों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा यह आयोजन करके यूपी ने साझीदार के तौर पर सहभागी बनकर अपने यहां व्याप्त सम्भावनाओं को भी दुनिया के सामने रखने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा‚ आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में यूपीडा के जरिए यहां २३ एमओयू हुए हैं। इनके तहत ५० हजार करोड़ के निवेश के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर हुए हैं। इससे ढाई से तीन लाख नौजवानों को रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने कहा‚ रक्षा मंत्रालय ने इस कार्यक्रम का ‘बंधन' नामकरण कर इससे भावनात्मक संबंध जोड़़ा है। इन करार के जरिए सूबे में अब रक्षा विमान से लेकर यात्री विमान‚ हेलीकाप्टर‚ सेना के उपयोग होने वाले विभिन्न उपकरण आदि का निर्माण होगा। प्रदेश के जिस क्षेत्र में ये रक्षा उद्यम लगेंगे वह इलाके आर्थिक रूप से कमजोर माने जाते हैं। ऐसे में इन निवेश से इन इलाकों के साथ पूरे प्रदेश की आर्थिक स्थिति और मजबूत होगी। मुख्यमंत्री ने आयोजन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार जताते हुए कहा‚ ‘प्रधानमंत्री ने २०१८ में यूपी में डि़फेंस कारिड़ोर स्थापना की घोषणा की थी। प्रदेश सरकार ने रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर ६ नोड्स तैयार किये। इनमें ही रक्षा इकाइयां स्थापित करने के लिए आज करार हुए हैं। श्री योगी ने कहा‚ इसी कारिड़ोर को तकनीकी सहयोग के लिए यूपीड़ा और ड़ीआड़ीओ के बीच भी एक एमओयू का हस्तांतरण हुआ है। मुख्यमंत्री ने राज्य में रक्षा उत्पाद बनाने को निवेशकों को आमंत्रित करते हुए कहा‚‘डि़फेंस कॉरिड़ोर के ६ नोड्स में से अलीगढ़ और झांसी का हमारा लैंड़ बैंक बुक हो चुका है। अब चार नोड्स में हमारे पास जमीनें हैं। हम लोग पूर्वांचल एक्सप्रेस–वे‚ बुंदेलखंड़ एक्सप्रेस–वे और गंगा एक्सप्रेस–वे के किनारे औद्योगिक क्लस्टर बनाएंगे।'
    Close
    रक्षा निवेश से सुदृढ़ होगी यूपी की अर्थव्यवस्था
    राष्ट्रीय सहारा 08/02/2020
    सहारा न्यूज ब्यूरो, लखनऊ :- डि़फेंस एक्सपो–२०२० ने यूपी की क्षमताओं को देश–दुनिया के पटल पर स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई है। इसका ही नतीजा है कि देश–विदेश की अनेक कम्पनियों ने राज्य के डि़फेंस कारिड़ोर में निवेश करने को समझौते किए। इस सफलता से गदगद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा‚ ‘डि़फेंस कारिड़ोर रक्षा निवेश से यूपी की इकोनामी सुदृढ़ होगी।' मुख्यमंत्री शुक्रवार को डि़फेंस एक्सपो के इनारगल पैवेलियन में साइनिंग आफ एमओयूज‚ प्रोड़क्ट लान्चिंग एंड़ मेजर एनाउन्समेंट प्रोग्राम ‘बंधन' में शामिल निवेशकों‚ सेना के अफसरों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा यह आयोजन करके यूपी ने साझीदार के तौर पर सहभागी बनकर अपने यहां व्याप्त सम्भावनाओं को भी दुनिया के सामने रखने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा‚ आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में यूपीडा के जरिए यहां २३ एमओयू हुए हैं। इनके तहत ५० हजार करोड़ के निवेश के दस्तावेजों पर हस्ताक्षर हुए हैं। इससे ढाई से तीन लाख नौजवानों को रोजगार भी मिलेगा। उन्होंने कहा‚ रक्षा मंत्रालय ने इस कार्यक्रम का ‘बंधन' नामकरण कर इससे भावनात्मक संबंध जोड़़ा है। इन करार के जरिए सूबे में अब रक्षा विमान से लेकर यात्री विमान‚ हेलीकाप्टर‚ सेना के उपयोग होने वाले विभिन्न उपकरण आदि का निर्माण होगा। प्रदेश के जिस क्षेत्र में ये रक्षा उद्यम लगेंगे वह इलाके आर्थिक रूप से कमजोर माने जाते हैं। ऐसे में इन निवेश से इन इलाकों के साथ पूरे प्रदेश की आर्थिक स्थिति और मजबूत होगी। मुख्यमंत्री ने आयोजन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार जताते हुए कहा‚ ‘प्रधानमंत्री ने २०१८ में यूपी में डि़फेंस कारिड़ोर स्थापना की घोषणा की थी। प्रदेश सरकार ने रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर ६ नोड्स तैयार किये। इनमें ही रक्षा इकाइयां स्थापित करने के लिए आज करार हुए हैं। श्री योगी ने कहा‚ इसी कारिड़ोर को तकनीकी सहयोग के लिए यूपीड़ा और ड़ीआड़ीओ के बीच भी एक एमओयू का हस्तांतरण हुआ है। मुख्यमंत्री ने राज्य में रक्षा उत्पाद बनाने को निवेशकों को आमंत्रित करते हुए कहा‚‘डि़फेंस कॉरिड़ोर के ६ नोड्स में से अलीगढ़ और झांसी का हमारा लैंड़ बैंक बुक हो चुका है। अब चार नोड्स में हमारे पास जमीनें हैं। हम लोग पूर्वांचल एक्सप्रेस–वे‚ बुंदेलखंड़ एक्सप्रेस–वे और गंगा एक्सप्रेस–वे के किनारे औद्योगिक क्लस्टर बनाएंगे।'


  • दैनिक जागरण : 06/02/2020 राब्यू, लखनऊ: अयोध्या में मंदिर निर्माण को श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट बनाने के फैसले का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर बननेवाला मंदिर सामाजिक समरसता का प्रतीक होगा। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया-‘अवधपुरी में श्रीराम जन्मभूमि पर स्थापित होने वाला मंदिर सामाजिक समरसता का प्रतीक स्थल होगा। पांच दशकों की प्रतीक्षा के बाद अब शीघ्र ही भव्य-दिव्य मंदिर में हमारे आराध्य प्रभु श्रीराम विराजमान होंगे। यह हर्ष उत्कर्ष व आनंद उल्लास का अवसर है। प्रभु श्रीराम हमारा मार्ग प्रशस्त करें।’उधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि करोड़ों श्रद्धालुओं का सदियों का इंतजार खत्म होगा। उन्होंने कहा, आज अत्यंत हर्ष व गौरव का दिन है। सैकड़ों वषरे के संघर्ष के बाद यह शुभ घड़ी आई है। जिस तरह समाज के सभी वगरे ने सौहार्द व भाईचारे का वातावरण प्रस्तुत किया, वह भी देश की एकता व अखंडता को प्रदर्शित करता है।
    Close
    श्रीराम जन्मभूमि मंदिर होगा सामाजिक समरसता का प्रतीक : योगी आदित्यनाथ
    दैनिक जागरण 06/02/2020
    राब्यू, लखनऊ: अयोध्या में मंदिर निर्माण को श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट बनाने के फैसले का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर बननेवाला मंदिर सामाजिक समरसता का प्रतीक होगा। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया-‘अवधपुरी में श्रीराम जन्मभूमि पर स्थापित होने वाला मंदिर सामाजिक समरसता का प्रतीक स्थल होगा। पांच दशकों की प्रतीक्षा के बाद अब शीघ्र ही भव्य-दिव्य मंदिर में हमारे आराध्य प्रभु श्रीराम विराजमान होंगे। यह हर्ष उत्कर्ष व आनंद उल्लास का अवसर है। प्रभु श्रीराम हमारा मार्ग प्रशस्त करें।’उधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि करोड़ों श्रद्धालुओं का सदियों का इंतजार खत्म होगा। उन्होंने कहा, आज अत्यंत हर्ष व गौरव का दिन है। सैकड़ों वषरे के संघर्ष के बाद यह शुभ घड़ी आई है। जिस तरह समाज के सभी वगरे ने सौहार्द व भाईचारे का वातावरण प्रस्तुत किया, वह भी देश की एकता व अखंडता को प्रदर्शित करता है।


  • राष्ट्रीय सहारा : 05/02/2020 लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि यूपी देश में रक्षा उत्पादन के हब के रुप में उभरने जा रहा है। रक्षा आयुध उद्योग स्थापित करने के लिए यूपी में २५ हजार एकड़़ का लैण्ड़ बैंक मौजूद है। मुख्यमंत्री ने कहा राज्य में जल्द ही दो डॉर्नियर यात्री विमान उड़़ान सेवा में शामिल होंगे। इसके लिए एचएएल के साथ करार किया जायेगा॥। श्री योगी यहां बुधवार से शुरू होने वाली रक्षा प्रदर्शनी डिफेंस एक्सपो २०२० की पूर्व संध्या पर इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में आयोजित करटेन रेजर कार्यक्रम में संवाददाताओं से मुखातिब थे। इसका उद्घाटन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दो रक्षा गलियारे बनने के बाद यह निवेश के प्रमुख केंद्र के रूप में उभर रहा है। उन्होंने कहा साल २०१७ में सरकार बनने के बाद से ही राज्य की कानून–व्यवस्था को सुदृढ़ करने के साथ ही निवेश के रास्ते की बाधाओं को चिन्हित कर उन्हें दूर करने की नीतियों को बदला। डि़फेंस एक्सपो के जरिए देश–दुनिया के रक्षा आयुध बनाने वाली कम्पनियों को यूपी में निवेश के लिए आमंत्रण देते हुए श्री योगी ने कहा सरकार ढांचागत विकास पर बेहद जोर दे रही है जिससे निवेश आकर्षित किया जा सके। राज्य सरकार के पास छह डि़फेंस कारीड़ोर के निकट २५ हजार एकड़़ भूमि मौजूद है। राज्य में रक्षा उत्पाद बनने से रोजगार के मौके भी बढ़ेंगे। ॥ राज्य सरकार देश में ही बनाये जाने वाले पहले दो यात्री डॉर्नियर विमान बनाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एचएएल से करार पर हस्ताक्षर करेगी। उन्होंने कहा कि १९ सीटों का यह विमान बेहद सुरक्षित और टिकाऊ है। फिलहाल इन विमानों का उपयोग कोस्टगार्ड़ और एयरफोर्स द्वारा किया जा रहा है। इन विमानों का संचालन लखनऊ से राज्य के बड़े शहरों तक उड़ान योजना के तहत क्या जाएगा। उन्होंने कहा पहले राज्य में दो एयरपोर्ट थे। अब इनकी संख्या छह हो चुकी है। ११ नये एयरपोर्ट बन रहे हैं। जेवर एयरपोर्ट का कार्य जल्द शुरू होगा। श्री योगी ने कहा २९ फरवरी को बुंदेलखण्ड़ एक्सप्रेस का शिलान्यास किया जायेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस–वे के मुख्य मार्ग को वर्ष के अंत तक यातायात के लिए खोल देंगे।
    Close
    यूपी बनेगा रक्षा क्षेत्र का हब
    राष्ट्रीय सहारा 05/02/2020
    लखनऊ (एसएनबी)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि यूपी देश में रक्षा उत्पादन के हब के रुप में उभरने जा रहा है। रक्षा आयुध उद्योग स्थापित करने के लिए यूपी में २५ हजार एकड़़ का लैण्ड़ बैंक मौजूद है। मुख्यमंत्री ने कहा राज्य में जल्द ही दो डॉर्नियर यात्री विमान उड़़ान सेवा में शामिल होंगे। इसके लिए एचएएल के साथ करार किया जायेगा॥। श्री योगी यहां बुधवार से शुरू होने वाली रक्षा प्रदर्शनी डिफेंस एक्सपो २०२० की पूर्व संध्या पर इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में आयोजित करटेन रेजर कार्यक्रम में संवाददाताओं से मुखातिब थे। इसका उद्घाटन बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में दो रक्षा गलियारे बनने के बाद यह निवेश के प्रमुख केंद्र के रूप में उभर रहा है। उन्होंने कहा साल २०१७ में सरकार बनने के बाद से ही राज्य की कानून–व्यवस्था को सुदृढ़ करने के साथ ही निवेश के रास्ते की बाधाओं को चिन्हित कर उन्हें दूर करने की नीतियों को बदला। डि़फेंस एक्सपो के जरिए देश–दुनिया के रक्षा आयुध बनाने वाली कम्पनियों को यूपी में निवेश के लिए आमंत्रण देते हुए श्री योगी ने कहा सरकार ढांचागत विकास पर बेहद जोर दे रही है जिससे निवेश आकर्षित किया जा सके। राज्य सरकार के पास छह डि़फेंस कारीड़ोर के निकट २५ हजार एकड़़ भूमि मौजूद है। राज्य में रक्षा उत्पाद बनने से रोजगार के मौके भी बढ़ेंगे। ॥ राज्य सरकार देश में ही बनाये जाने वाले पहले दो यात्री डॉर्नियर विमान बनाने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम एचएएल से करार पर हस्ताक्षर करेगी। उन्होंने कहा कि १९ सीटों का यह विमान बेहद सुरक्षित और टिकाऊ है। फिलहाल इन विमानों का उपयोग कोस्टगार्ड़ और एयरफोर्स द्वारा किया जा रहा है। इन विमानों का संचालन लखनऊ से राज्य के बड़े शहरों तक उड़ान योजना के तहत क्या जाएगा। उन्होंने कहा पहले राज्य में दो एयरपोर्ट थे। अब इनकी संख्या छह हो चुकी है। ११ नये एयरपोर्ट बन रहे हैं। जेवर एयरपोर्ट का कार्य जल्द शुरू होगा। श्री योगी ने कहा २९ फरवरी को बुंदेलखण्ड़ एक्सप्रेस का शिलान्यास किया जायेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस–वे के मुख्य मार्ग को वर्ष के अंत तक यातायात के लिए खोल देंगे।


  • दैनिक जागरण : 04/02/2020 जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दिल्ली के विधानसभा चुनाव पर पूरे देश की निगाहें हैं। यहां हमारा मुकाबला ऐसी ताकतों से है, जो देश की संप्रभुता को चुनौती दे रही हैं। सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को उनके हितों की चिंता है, जो देश के टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं। अफजल की मौत पर मातम मनाते हैं और कहते हैं कि अफजल हम शर्मिदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं। ये ऐसे लोग हैं, जो सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बहादुर सैनिकों से उनकी वीरता का सुबूत मांगते हैं। पुलवामा के हमलावरों के प्रति सहानुभूति रखते हैं। ऐसे लोगों को इस बार दिल्ली की जनता हर हाल में सबक सिखाएगी। दिल्ली में ताबड़तोड़ चुनावी सभाएं कर रहे योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को विकासपुरी, उत्तम नगर और द्वारका से भाजपा प्रत्याशियों के लिए समर्थन मांगा। मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए योगी बोले, आप ही बताएं क्या ऐसा शख्स जो देश के सैनिकों से वीरता का सुबूत मांगता, उसे सत्ता में होना चाहिए। ऐसा शख्स जो देश की भावनाओं के साथ लगातार खिलवाड़ कर रहा है, शाहीन बाग में बैठे लोगों को बिरयानी खिलाता है, क्या उसे सत्ता से बेदखल नहीं किया जाना चाहिए। शाहीन बाग तो ऐसे लोगों के लिए बहाना भर है। उनका असली निशाना इस देश की उस ताकत को कमजोर करना है, जिनके लिए देश सर्वाेपरि है, जो भारत को दुनिया का सबसे मजबूत देश बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा यह चुनाव सुशासन व राष्ट्रवाद के मुद्दे पर लड़ रही है। योगी ने कहा कि दिल्ली की दुर्दशा देखकर अहसास करना कठिन हो जाता है कि क्या यह शहर देश की राजधानी है। प्रधानमंत्री मोदी ने विकास के लिए कई योजनाओं को लागू किया, लेकिन दिल्ली में केजरीवाल ने लागू नहीं होने दिया।
    Close
    संप्रभुता को चुनौती देने वालों से मुकाबला
    दैनिक जागरण 04/02/2020
    जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दिल्ली के विधानसभा चुनाव पर पूरे देश की निगाहें हैं। यहां हमारा मुकाबला ऐसी ताकतों से है, जो देश की संप्रभुता को चुनौती दे रही हैं। सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को उनके हितों की चिंता है, जो देश के टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं। अफजल की मौत पर मातम मनाते हैं और कहते हैं कि अफजल हम शर्मिदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं। ये ऐसे लोग हैं, जो सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बहादुर सैनिकों से उनकी वीरता का सुबूत मांगते हैं। पुलवामा के हमलावरों के प्रति सहानुभूति रखते हैं। ऐसे लोगों को इस बार दिल्ली की जनता हर हाल में सबक सिखाएगी। दिल्ली में ताबड़तोड़ चुनावी सभाएं कर रहे योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को विकासपुरी, उत्तम नगर और द्वारका से भाजपा प्रत्याशियों के लिए समर्थन मांगा। मुख्यमंत्री अर¨वद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए योगी बोले, आप ही बताएं क्या ऐसा शख्स जो देश के सैनिकों से वीरता का सुबूत मांगता, उसे सत्ता में होना चाहिए। ऐसा शख्स जो देश की भावनाओं के साथ लगातार खिलवाड़ कर रहा है, शाहीन बाग में बैठे लोगों को बिरयानी खिलाता है, क्या उसे सत्ता से बेदखल नहीं किया जाना चाहिए। शाहीन बाग तो ऐसे लोगों के लिए बहाना भर है। उनका असली निशाना इस देश की उस ताकत को कमजोर करना है, जिनके लिए देश सर्वाेपरि है, जो भारत को दुनिया का सबसे मजबूत देश बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा यह चुनाव सुशासन व राष्ट्रवाद के मुद्दे पर लड़ रही है। योगी ने कहा कि दिल्ली की दुर्दशा देखकर अहसास करना कठिन हो जाता है कि क्या यह शहर देश की राजधानी है। प्रधानमंत्री मोदी ने विकास के लिए कई योजनाओं को लागू किया, लेकिन दिल्ली में केजरीवाल ने लागू नहीं होने दिया।


  • हिन्दुस्तान : 02/02/2020 लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बजट किसानों के विकास, नौजवानों के रोजगार व स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिहाज से मील का पत्थर साबित होगा। मुख्यमंत्री ने शनिवार को अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि रोजगार के व्यापक सृजन, किसान हितैषी और विकासोन्मुख बजट के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण को हृदय से बधाई देता हूं। यह बजट देश के बुनियादी ढांचागत विकास के साथ ही किसानों के उन्नयन, नौजवानों के रोजगार और देश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि यह बजट देश की वर्तमान आवश्यकता के अनुरूप अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने वाला है।
    Close
    बजट विकास के लिहाज से मील का पत्थर : योगी
    हिन्दुस्तान 02/02/2020
    लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बजट किसानों के विकास, नौजवानों के रोजगार व स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिहाज से मील का पत्थर साबित होगा। मुख्यमंत्री ने शनिवार को अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि रोजगार के व्यापक सृजन, किसान हितैषी और विकासोन्मुख बजट के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण को हृदय से बधाई देता हूं। यह बजट देश के बुनियादी ढांचागत विकास के साथ ही किसानों के उन्नयन, नौजवानों के रोजगार और देश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि यह बजट देश की वर्तमान आवश्यकता के अनुरूप अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने वाला है।

सर्वश्रेष्ठ समीक्षा

आपका मत

आप के विचार

  • बूचड़ खाना बंद करने पर धन्यावाद

    राजेश patodi हम यह चाहते हे की यह नियम पुरे भारत देश शक्ति से लागु किया जाये हम आशा करते हे की आप की यह मेहनत जरूर रंग लाएगी जय हिन्द जय भारत ,राजेश पटौदी म.प. इंदौर
  • शिक्षा

    अभिशेष एक अपील मोदी जी और योगी जी से की प्राइवेट स्कूल की फीस पर कोई लगाम नहीं है और उनके स्कूल मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स बाजार भाव से पांच गुना दामों मे बेचा जा रहा है । आपसे निवेदन है कि इन दोनों बातो पर अपना ध्यान दे ।
  • संपूर्ण देखें